ITDCPC-FullForm

“ITDCPC” Full Form Kya Hai

ITDCPC की फूल फॉर्म क्या है? इससे जुड़े सभी प्रकार के जानकारी के बारे में हमने बताया है।

ITDCPC Full Forum

ITDCPC इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से जुड़ा है। यह भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के भीतर आता है। ITDCPC की फूल फॉर्म Income Tax Department Central Processing Center हैं। इसमें पहले तीन अक्षर का अर्थ इनकम टैक्स डिपार्टमेंट और शेष तीनों अक्षरों का अर्थ केंद्रीय प्रसंस्करण केंद्र है।

ITDCPC क्या है

आईटीडीसीपीसी भारत की केंद्र सरकार के अंतर्गत आयकर विभाग का एक प्रमुख अंग है। इसमें आयकर विभाग द्वारा आयकर दाताओं को सूचना भेजने से संबंधित कार्य किए जाते हैं। ITDCPC के अंतर्गत आयकरदाताओं को ITR से संबंधित सभी सूचनाएं s.m.s. या ईमेल के माध्यम से भेजी जाती है।

Income Tax Department से क्या मैसेज मिलते हैं।

सामान्यतः इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से इनकम टैक्स से जुड़ी जानकारी मिलती है । इसमें आइटीआर रिटर्न भरने और अन्य सूचनाएं मिलती है। समय-समय पर धोखाधड़ी से बचने और अपनी निजी जानकारियां किसी को ना बताने से जुड़े मैसेज भी मिलते हैं।

FAQ Section

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से जुड़े SMS प्राप्त होने या उससे जुड़े प्रश्न जो हमारे मन में एक बार अवश्य आते हैं।

ITDCPC से मैसेज क्या है और यह कब मिलते हैं?

Ans: जब एक व्यक्ति टैक्स भरता है तो उसे इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से आइटीआर भरने से जुड़े मैसेज ITDCPC के माध्यम से मिलते हैं। यह मैसेज वर्ष के अंत में आईटीआर बढ़ने से जुड़े मैसेज एस SMS और Email के माध्यम से मिलते हैं। साथ ही समय-समय पर आयकर-दाताओं को धोखाधड़ी से बचने और अपनी जानकारियां सुरक्षित रखने के बारे में भी मैसेज मिलते हैं ।

ITDCPC से मैसेज नहीं मिलने का कारण क्या है?

Ans: जब ITD(Income Tax Department) के डेटाबेस मैं आपका ई-मेल और मोबाइल नंबर उपलब्ध नहीं होने पर आपको ITD CPC मैसेज नहीं मिलता है।

ITD से SMS के माध्यम से जानकारी कैसे प्राप्त करें?

Ans: जब आप इनकम टैक्स फाइल भरते हैं तो आपको आईटीडी सीपीसी के माध्यम से SMS प्राप्त होते हैं। इसमें अपनी व्यक्तिगत ईमेल और व्यक्तिगत मोबाइल नंबर दर्ज कराते हैं तो आपको मैसेज के माध्यम से अपनी आइटीआर से जुड़ी सभी जानकारियां मिलती है।

महत्वपूर्ण

जब आप अपने आइटीआर को किसे अन्य व्यक्ति द्वारा पूरा कराते समय ध्यान पूर्वक अपना व्यक्तिगत वैद्य ईमेल और मोबाइल नंबर भरे जिससे आपको आइटीआर द्वारा सभी जानकारियां मिलती रहे । कुछ समय आपको टैक्स प्रैक्टिशनर द्वारा खुद की ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर भर देते हैं जिससे आयकर दाता को ITDCPC के मैसेज नहीं मिलते हैं ऐसे में आयकर दाता को टैक्स प्रैक्टिशनर द्वारा जानकारियां सही करवानी चाहिए।

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.