seo-friendly-blog-post

SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे ?

आज हम SEO से जुड़े सभी जानकारियों के बारे में बताने वाले है। इन सभी टॉपिक्स को अपनाकर आप भी SEO Friendly Blog Post लिख सकते है। SEO Friendly Blog Post लिखकर आप गूगल में अपनी RANK को बड़ा सकते है। जिसमे ON Page SEO, Off Page SEO, Image SEO, Technical SEO जैसी सभी टेक्निक का ध्यान रखे। इसके साथ ही User Friendly ब्लॉग पोस्ट भी होना चाहिए। हमने सभी Important SEO Parameters को बताया है जिनको ध्यान में रखते हुए आप SEO Friendly Blog Post लिख सकते है।

Keyword Research करे

Keyword Research का मतलब आप जिस टॉपिक पर अपना ब्लॉग/आर्टिकल लिखना चाहते है उसके बारे में पूरी जानकारी पता करे। Keyword का सामान्य मतलब आपके शीर्षक से है। शीर्षक में आपके आर्टिकल का प्रमुख शब्द होना चाहिए। ऐसे keyword पर आर्टिकल लिखे जिसके बारे में लोग सर्च करते हो। कीवर्ड के बारे में आपने आर्टिकल के पहले पैराग्राफ में जरूर बताये जिससे आपका ब्लॉग SEO Friendly Blog Post लिखा जाता है।

Meta Description लिखे

Meta Description में पुरे Blog का बहुत ही सरल और कुछ ही शब्दो में सारांश लिखना होता है। मेटा डिस्क्रिप्शन में 500 शब्द ही लिखना होता है। जिसमे अपना कीवर्ड और ब्लॉग को लिखना पड़ता है। Google को मेटा डिस्क्रिप्शन से आर्टिकल को क्रोल और रैंक करने में बहुत मदद मिलती है। यह गूगल और यूजर दोनों के लिए लिखा जाता है।

H2 और H3 का प्रयोग

ब्लॉग को लिखते समय उसमे शीर्षक और उपशीर्षक लिखना बहुत ही ज्यादा जरुरी है जिसमे शीर्षक को H2 और उपशीर्षक को H3 के साथ लिखा जाता है। H2 में Keyword से जुड़े सभी Related Words होने चाहिए। अगर उपशीर्षक के बाद भी अन्य शीर्षक देना पड़े तो H4 H5 H6 का उपयोग किया जाता है। इससे ब्लॉग यूजर को पढ़ने में आसान और गूगल पर अच्छा प्रभाव डालता है।

Words को Bold करना

ब्लॉग को लिखते समय महत्वपूर्ण शब्द को बोल्ड कर लिखे। यह पूरा ध्यान रखना चाहिए की पूरा पैराग्राफ बोल्ड नहीं हो। हमे केवल महत्व-पूर्ण अक्षरों को ही बोल्ड करना चाहिए। जिससे यूजर को पढ़ने में आसानी हो साथ ही यह गूगल सर्च में भी प्रभाव डालता है।

Columns और lines add करे

ब्लॉग लिखते समय कॉलम और लाइन्स का उपयोग करके हम अपने आर्टिकल में तुलना, सारणी, और बहुत सारी चीजे जोड़ सकते है। इसके उपयोग से ब्लॉग को पढ़ने वाले यूजर को आसानी से समज आ जाता है और वह पढ़ने में रूचि दिखता है।

Table of Content का प्रयोग

ब्लॉग पोस्ट लिखते समय उसमे Table of Content को शामिल जरूर करे। इसे लिखने से ब्लॉग में लिखे सभी शीर्षक का पता चलता है और पढ़ने में आसानी रहती है। इसको पढ़कर यूजर अपने काम की चीज़ को जल्दी खोज लेता है। यह सर्च इंजन पर भी काफी प्रभाव डालती है।

FAQ को Add करना

ब्लॉग के लिखने पर हमे उसमे से से सम्बंधित प्रश्न और उनके उतर को भी लिखना चाहिए। जिससे पढ़ने वाले यूजर के सभी संकाएँ दूर हो जाये। सभी प्रश्न ब्लॉग और उससे आधरित होने चाहिए। कम से कम तीन प्रश्न और उनके उत्तर जरूर लिखे। FAQ को ब्लॉग के बाद लिखना चाहिए |

Conclusion लिखना

इसमें ब्लॉग से मिलने वाली जानकारी को एक स्पष्ट रूप में समजाते है। इसे लिखने का मतलब ब्लॉग का सारांश लिखना होता है। यह ज्यादा बड़ा नहीं लिखना चाहिए। Conclusion को blog के सबसे अंत(लास्ट) में लिखा जाता है।

Inerlinks को बनाना

इनरलिंक का मतलब ब्लॉग से जुड़े दूसरे ब्लॉग को जोड़ना है। इसके प्रयोग से यूजर एक ब्लॉग से दूसरे ब्लॉग में पहुंच जाता है। इंटरलिंक में दूसरे संबंधित ब्लॉग को ही जोड़ना चाहिए। जिससे यूजर हमारे ब्लॉग पर ज्यादा रुकता है। गूगल सर्च और रैंक पर भी इसका प्रभाव पड़ता है। इनरलिंक दो प्रकार से होता है जिसमे पहला अपने ही एक ब्लॉग से दूसरा ब्लॉग जुड़ा रहता है।
दूसरे प्रकार के इंटरलिंक में हम अपने ब्लॉग से दूसरे वेबसाइट या ब्लॉग के बारे में इंटरलिंक करते है। हमें ध्यान रखना चाहिए की वे साइट उच्च Rank वाली हो(जैसे-wikipedia,amazon,pintress)। इनरलिंक करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए की कोई भी लगाया हुआ लिंक सही से काम करे और कोई भी ब्रोकन लिंक नहीं हो।

Keyword Fishing से बचना

कीवर्ड फिशिंग से मतलब है की अपने ब्लॉग में Main Keyword को बार बार दोहराना। ऐसा करके हम अपने ब्लॉग को कीवर्ड से भर देते है जिससे यूजर और गूगल ख़राब रैंकिंग करते है।
हमे कीवर्ड को नहीं बल्कि उससे सम्बंधित शब्दो का भी प्रयोग करना चाहिए।

Image SEO करना

इमेज SEO का मतलब हमें ब्लॉग लिखते समय ब्लॉग की फीचर्ड फोटो लगाना और उस फोटो का Alt text के बारे में लिखना होता है। क्योकि गूगल इमेज/फोटो को नहीं पढ़ सकता। इसके माध्यम से हम गूगल को इमेज के बारे में बताते है। साथ ही यह एक SEO Paramiter भी जो हमारी रैंकिंग बढ़ाता है। इमेज का आकर कम साइज में होना चाहिए जिससे इमेज जल्दी लोड होती है। प्रत्येक ब्लॉग में एक इमेज जरूर लगानी चाहिए।

Blog Post का URL सही लिखना

ब्लॉग पोस्ट लिखते समय हमें ब्लॉग का यूआरएल मतलब ब्लॉग का लिंक (जिसको ओपन करके हम ब्लॉग को देखते है) सही लिखा होना चाहिए। सामान्यत: ब्लॉग का शीर्षक ही यूआरएल बन जाता है। URL का छोटा और स्पस्ट होना बहुत जरुरी है। यूआरएल को ब्लॉग पूरा लिखने के बाद एडिट करके सही करना चाहिए। यूआरएल बार बार चेंज और एडिट नहीं करने चाहिए। इससे गूगल रैंकिंग पर असर पड़ता है।

FAQ SECTION

BLOG लिखने से जुड़े कुछ रोचक प्रश्न जो की हमारे मन एक बार जरूर सवाल उठते है। इनके बारे में पढ़कर हम अपने सवाल का जवाब पा सकते है।

एक ब्लॉग और एक वेबसाइट में क्या अलग है ?

Ans: एक ब्लॉग लिखना रूचि का कार्य होता है जिसमे विस्तार से सभी जानकारी का विवरण होता है। जबकि वेबसाइट में केवल जानकारी का महत्वपूर्ण भाग लिखा होता है। वेबसाइट में लिखी जानकारी का पूरा होना जरुरी नहीं है।

On Page SEO में क्या क्या शामिल है ?

Ans: On Page SEO के अंतर्गत टेबल ऑफ़ कंटेंट, headings, कीवर्ड प्लेसमेंट, Interlinking शामिल है।

Image SEO क्या होता है ?

Ans: Image SEO का मतलब ब्लॉग में जोड़ी गयी फीचर इमेज के बारे में गूगल को बताना होता है। इसमें इमेज के बारे में लिखना होता है जो की Alt Text कहलाता है। जिसको गूगल सर्च के इमेज में देखा जा सकता है। यह Image seo, Technical seo का ही भाग होता है।

Inerlink क्या होता है?

Ans: इनरलिंक का मतलब किसी एक शब्द को लिंक से जोड़ना है जिससे वह लिंक ओपन करने पर दूसरे ब्लॉग पर लिखी जानकारी पर हमे ले जाये।

Broken link (ब्रोकन लिंक) क्या है ?

Ans: ब्रोकन लिंक का मतलब, ब्लॉग में इंटरलिंकिंग करते समय किसी ऐसे लिंक को जोड़ना जिससे कोई सही पेज नहीं खुलता हो। ऐसे लिंक से गूगल हमारी रैंक को ख़राब मानता है। और यूजर भी गलत जानकारी से ब्लॉग नहीं पढता है ।

FAQ क्या है और इसकी Full Form क्या होती है ?

Ans: FAQ की फुल फॉर्म Frequently Ask Question (फ्रेक्वेंटली आस्क क्वेश्चन) होता है। इसका मतलब ब्लॉग से सम्बंधित प्रश्न जो ब्लॉग पढ़ते समय हमें आते है। जिनके बारे में ब्लॉग में उत्तर नहीं मिलता है उनका हमें FAQ से जवाब मिल जाता है। प्रत्येक ब्लॉग में कुछ न कुछ FAQ प्रश्न लिखने चाहिए।

Conclusion

SEO Friendly Blog post लिखने के लिए हमें On Page SEO Off Page SEO Technical SEO आदि सभी के बारे में पूरा पता होना चाहिए। हमने पोस्ट के SEO के बारे में पूरी जानकारी बताई है। जिनको ध्यान में रखकर एक सही ब्लॉग पोस्ट लिखी जाती है। SEO फ्रेंडली ब्लॉग पोस्ट लिखने से गूगल की रैंकिग बढ़ती है। साथ ही यह यूजर एक्सपीरियंस को भी अच्छा करती है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.